Search amazon Product

Ad banner

जौ खाने के फायदे | घरेलु उपचार |स्वास्थ्य पत्रिका

जौ क्या है? जौ के फायदे फायदे तथा गुण बताइये l


जौ की प्रकृति से मधुर, ठंडा, कफ पित्त नाशक, बलवर्धक, अल्सर होने पर खाद्द रुप में; मूत्र संबंधी तथा पेट से सम्बंधित समस्या से राहत दिलाने वाला होता है।

जौ खाने के फायदे


यह व्रण, डाईबेटिस, रक्तपित्त, कण्ठ रोग, त्वचा संबंधी रोग, श्वास, खांसी, या एनीमिया, ग्रहणी, प्लीहारोग, अर्श या पाइल्स तथा मूत्र रोग नाशक होता है। शूक रहित जौ बलवर्द्धक, वीर्यवर्धक, होता है।


जौ के फायदे तथा घरेलु प्रयोग


गर्भपात का घरेलु इलाज - गर्भपात को रोकने के लिए 12 ग्राम जौ का छना हुआ आटा ले, 12 ग्राम तिल और 12 ग्राम शक्कर ले l तीनो को बारीक़ पिसकर शहद में मिलाकर चाटने से गर्भपात नहीं होता है l


जल जाने पर जौ का इस्तेमाल - जलने पर जौ को जला कर बारीक़ पीस ले और तिल के तेल में मिलाकर  जले हुए स्थान पर लगाए l तुरंत आराम मिलेगा और जला हुआ जल्दी ठीक हो जायेगा l


दमा - दमा की बिमारी में 6 ग्राम जौ की राख , 6 ग्राम मिश्री दोनों की पिसकर सुबह शाम गर्म पानी से फंकी ले l


राख़ बनाने के विधि - जौ किसी बर्तन में डालकर, जलता हुआ कोयला डालकर जलाये l जल जाने के बाद किसी बर्तन में ऐसा ढक दे की हवा ना लगे l चार घंटे बाद कोयले को निकाल करर फेंक दे और जले हुए जौ को पीस ले l


2) दूसरा तरीका राख बनाने का, जौ को तवे पर इतना सेंके की जौ जल जाए l चार घंटे तक ऐसा ढक कर रख दे की हवा न लगे फिर पीस ले l


जौ पथरी में लाभकारी - जौ का पानी पीने से पथरी निकल जाती है l पथरी के रोगी को जौ से बनी चीजे कहानी चाहिए जैसे जौ का आटा से बनी रोटी, जौ की जौ की खिचड़ी, जौ का सत्तू इत्यादि l इससे पथरी पिघलने में सहायता मिलती है और पथरी नहीं बनती है l


जौ की रोटी खाने के फायदे बहुत होते है आंतरिक बिमारियों में और आंतरिक अव्यवों की सूजन में जौ की रोटी खाना लाभदायक है l चर्म रोग, जुकाम, गला, कंठ के रोग तथा मूत्र सम्बंधित रोगों में जौ खाना बहुत ही फायदेमंद होता है l इसके अलावा जौ की रोटी खाने से कोलेस्ट्रॉल लेवल ठीक हो जाता है, हाई ब्लड प्रेशर कण्ट्रोल, डायबिटीज और ह्वदय रोगों से बचाता है। 

मोटापा बढ़ना - दो मुठ्ठी जौ 12 घंटे पानी में भिगोये, फिर चारपाई पर कपड़ा बिछा कर फैला कर कुछ खुश्क कर ले l इन्हे कूट कर इनका छिलका तुरंत उतार दे l बची हुई जौ की गुली से दूध में खीर बनाकर खाये l कुछ ही सप्ताहो में दुबले पतले व्यक्ति मोटे ताजे हो जाते है l शरीर में खून की कमी होने पर व्यक्ति जौ की खीर पीने से एनीमिया दूर होता है l


गले में सूजन, अधिक प्यास लगना, जलन हो तो एक कप भरकर जौ कूट ले और फिर इन्हे दो गिलास पानी में आदे घंटे भिगो दे l इसके बाद पानी को उबालकर जितना गर्म सहन हो उतना गर्म पानी में दिन में दो बार गरारे करे l गले की सूजन तथा गले के रोगों में लाभ होगा l

जौ का पानी पीने के फायदे - रोजाना जौ का पानी पीने से शरीर से विषैले तत्व बाहर निकलते हैं। जहाँ ठोस भोजन नहीं दिया जा सकता वहां जौ का पानी एक अच्छा पेय पदार्थ हो सकता है l सूजन, जवर, पेशाब में जलन होने पर विशेष लाभदायक है l एक कप जौ एक किलो पानी में उबालकर ठंडा करके बार बार पीये l कब्ज, बवासीर और दस्त होने पर इसे पी सकते हैं। यह शरीर में होने वाले पोषक तत्वों और पानी की कमी को पूरा करता है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Blogger द्वारा संचालित.