Search amazon Product

Ad banner

दालचीनी खाने के फायदे और नुकसान -स्वास्थ्य पत्रिका

दालचीनी खाने के बहुत फायदे होते है l दालचीनी कई समस्याओ में कारगर साबित होती है l ज्यादातर लोग दालचीनी के बारे में नहीं जानते, वो सिर्फ गरम मसाले के रूप में खाते है l

 दालचीनी की तासीर या प्रकृति गर्म होती है l दालचीनी का उपयोग सर्दियों में अधिक किया जाता है, सर्दी-जुकाम, मोटापा कम करने में, वजन घटाने में और मधुमेह, दिल की बीमारियाँ जैसी गंभीर बीमारियों में दालचीनी उपयोग किया जाता है l

दालचीनी खाने के फायदे

👉Learn more 👈

दालचीनी पत्ते, जड़, छाल तथा तेल का उपयोग किया जाता है। अगर आप छाल का सेवन कर रहें हैं 3 से 5 मिलीग्राम से ज्यादा न करें।


दालचीनी को पानी में उबालें और छान ले l इसमें नींबू का रस और शहद मिलाएं। इस पेय से फैट कम होता है।


दालचीनी को पीसकर एक चम्मच शहद के साथ एक चुटकी मात्रा में खाने से जुकाम में आराम मिलता है l


अपच, गैस, पेट दर्द और एसिडिटी जैसी समस्यों में भी दालचीनी का पाउडर काफी असरदायक होता है l दालचीनी सर्दी, खांसी या गले की समस्या में दालचीनी बहुत बढ़िया असरकारक औषधि है l 


आप गुनगुने पानी में दालचीनी के पाउडर को शहद के साथ मिलाकर पी सकते हैं l


सुखी दालचीनी खाने के नुकसान हो सकते है 


दालचीनी खाने के फायदे बहुत होते है लेकिन इसके नुकसान भी है l आप दालचीनी का सेवन करते समय अगर आपको जरा सी भी कोई परेशानी हो तो तुरंत बंद कर दे l दालचीनी की तासीर गर्म होती है l गर्म प्रकृति के लोगो को यह परेशानी हो सकती है l


दालचीनी का सेवन करने से गले में छाले, सूजन, जलन,और घाव की समस्या भी हो सकती है। साथ ही ना केवल गले में बल्कि सीने में तेज जलन हो सकती है। सूखी दालचीनी खाने से आपके फेफड़े हमेशा कि लिए भी ख़राब हो सकते है l 

दालचीनी के फायदे और घरेलु नुस्खे


वीर्यवर्धक - दालचीनी बहुत बारीक़ पीस ले चार चार ग्राम सुबह व रहा को सोते समय गर्म दूध से फंकी ले l इससे वीर्य में वृद्धि होती है l दूध शीघ्र पच जाता है l


पेट की गैस - गैस के कारण होने वाले पेट दर्द को दालचीनो नष्ट करती है l तथा पाचन शक्ति बढाती है l दालचीनी अल्प मात्रा में ही प्रयोग करें l अधिक मात्रा में हानिकारक है l


तुतलाना - दालचीनी चबाने से तुतलाना ठीक होता है l


दस्त रोग - दो ग्राम पीसी हुई दालचीनी की पानी से फंकी लेने से दस्त बांध होते है

दालचीनी और कत्था पान में लगाने का सामान मात्रा में पिसकर आधा चम्मच तीन बार नित्य लेने से दस्त बंद हो जाते है l


पित्त की उलटी हो तो दालचीनी पिसकर शहद में मिलाकर चाटे l

दालचीनी और शहद के फायदे


कब्ज की समस्या - अजीर्ण होने से दालचीनी, सौंठ, जीरा और इलाइची को मिलाकर थोड़ी थोड़ी खाते रहने से लाभ होता है l इन सभी समान को पिसकर आधा चम्मच गर्म पानी से फंकी ले l


इन्फेलुएनजा होने पर दालचीनी पांच ग्राम दो लोंग चौथाई चम्मच सौंठ को पिसकर एक किलो पानी में उबाले l चौथाई पानी रहने पर छान कर इस पानी के थीं हिस्से करके दिन में तीन बार पिलाये l

दालचीनी


गले का काग की वृद्धि होने पर दालचीनी बारीक पिसकर अंगूठे से प्रातः कागज़ पर लगाए और लार टपका दे इससे काग वृद्धि दूर हो जाएगी तथा खाँसी भी ठीक हो जाती है l


सिरदर्द होने पर दालचीनी पानी में पिसकर ललाट पर लेप करने से लाभ होता है l


पेटदर्द - दालचीनी, हींग प्रत्येक चौथाई चम्मच मिलाकर पीस ले l फिर एक गिलास पानी में मिलाकर उबाल कर ठंढा लेर ले l यह तीन चम्मच पानी तीन पार नित्य पीने से पेट दर्द दूर हो जाता है l


वजन कम करना (weight lose) - दालचीनी के पाउडर को पानी में उबाल कर पीने से वजन कम होता है l 


कोई टिप्पणी नहीं:

Blogger द्वारा संचालित.