Search amazon Product

Ad banner

अजवाइन खाने के फायदे तथा उपयोग -स्वास्थ्य पत्रिका

 खाना खाने के बाद अजवाइन खाने का फायदा

अजवाइन की तासीर सुष्क, तर तथा पाचक होती है l अजवाइन का वैज्ञानिक नाम carum copticum है l अजवाइन को भोजन के बाद खाना चाहिए क्यों की यह पाचक होती है और भोजन को पचाती है l पाचन तंत्र को सुधरती है l भूख बढ़ती है l

खाली पेट अजवाइन खाने के फायदे

अजवाइन खाने के फायदे बताइये

अजवाइन पाचक होती है इसका सेवन भोजन को पचाने के लिए किया जाता है l इसके अलावा पेट दर्द, गैस, अजीर्ण और स्त्रियों की समस्या मासिक धर्म, प्रसूतावस्था, सफ़ेद प्रदर, कमर दर्द में तथा अजवाइन का उपयोग सर्दी, खाँसी, जुखाम, बुखार में अजवाइन का सेवन किया जाता है l 


अजवाइन खाने के फायदे तथा अजवाइन के घरेलू नुस्खे


फ़्लू में अजवाइन के फायदे

1) तीन ग्राम अजवाइन और 3 ग्राम दालचीनी दोनों को उबालकर इनका पानी पिलाये l

2) 12 ग्राम अजवाइन 2 कप पानी में उबाले, आधा रहने पर ठंडा करके छानकर पीये l इस प्रकार नित्य चार पीने से फ़्लू शीघ्र ठीक हो जाता है l


जुकाम होने पर अजवाइन का उपयोग

1) अजवाइन की बीड़ी या सिगरेट बनाकर पीने से जुकाम में लाभ होता है l

2) 6 ग्राम अजवाइन पतले कपडे में बांधकर हथेली पर रगड़ कर बार बार सुंघे l जुकाम दूर हो जायेगा l

3) एक चम्मच अजवाइन और इसका चौगुना गुड़ एक गिलास पानी में डालकर उबाले l आधा पानी रहने पर छानले तथा गर्म गर्म पी कर ओढ़कर सौ जाये l जुकाम में लाभ होगा l


पेट की कृमि

अजवाइन का तेल 3 से 7 बूंद तक देने से हैजा तथा पेट की कृमि नष्ट हो जाती है l अजवाइन का चूर्ण 4 ग्राम, छाछ के साथ देने से पेट की कृमि नष्ट हो जाती है l 25 हराम पीसी हुई अजवाइन आधा किलो पानी में डालकर रात को रख दे l प्रातः इसे उबाले l जब चौथाई पानी रह जाये तब उतरकर छान ले l ठंडा होने पर पिलाये l यह बड़ो के लिए एक खुराख है l बच्चों को इसकी दो खुराख बना दे l इस तरह सुबह, शाम दो बार पीते रहने से पेट के छोटे छोटे कृमि मर जाते है l


खाँसी का घरेलु इलाज

अजवाइन खाकर गर्म पानी पीने से खाँसी ठीक हो जाती है l पान में अजवाइन डालकर खाने से रात को खाँसी चलना बंद हो जाती है l


पुराना ज्वर मंद ज्वर

15 ग्राम अजवाइन प्रातः मिट्टी के बर्तन में एक कप पानी में भिगो दे l दिन में मकान में और रात को खुले में, ओस में रखे l दूसरे दिन प्रातः छान कर पानी पीये l इसे लगातार 15 दिन पीये l यदि ज्वर पूर्णतः ठीक न हो तो कुछ दिन और पीये l इससे पुराना, मंद ज्वर ठीक हो जाता है l तिल्ली, यकृत बड़े हुए हो तो वे भी ठीक हो जाता है l भूक लगती है l


बहुमूत्र (बार बार पेशाब आना)

1) अजवाइन और तिल मिलाकर खाने से ठीक हो जाता है l 2) गुड़ और पीसी हुई कच्ची अजवाइन समान मात्रा में मिलाकर एक एक चम्मच नित्य चार बार खाये l इससे गुर्दे का दर्द भी ठीक हो जाता है l


पेट की गैस, वायु गोला

अजवाइन एक चम्मच, काला नमक चौथाई चम्मच दोनों को पीसकर छाछ में मिलाकर पीने से वायु गोला में लाभ होता है l


अजीर्ण, आमवात, कृमि, पित्त होने पर एक चम्मच अजवाइन और स्वादनुसार सेंधा नमक मिलाकर प्रातः भूखे पेट पानी से फंकी लेने लाभ होता है l


जोड़ो के दर्द से राहत दिलाएगा अजवाइन तेल 

अजवाइन का अर्क जोड़ो पर मलने से दर्द दूर हो जाता है l अजवाइन के तेल से जोड़ो पर मालिश करने से लाभ होता है l 


पेट दर्द अजवाइन का उपयोग

पेट दर्द का इलाज


1) अजवाइन दो गतम और नमक एक ग्राम पानी के साथ देने से पेट दर्द बंद हो जाता है l पाचन शक्ति ठीक हो जाती है l पतले दस्त भी बंद हो जाते है पीलिया हो तो वह भी ठीक हो जाता है

2) 15 ग्राम अजवाइन 5 ग्राम काला नमकनर आधा ग्राम हींग तीनो को पीस कर शीशी भर ले l पेट दर्द होने पर एक ग्राम दो बार गर्म पानी से ले l इससे भूख बढ़ती है l


पाचक है अजवाइन

पूड़ी पराठे कोई भी चीज हो उसमे अजवाइन डालकर बनाये इस प्रकार खाने से पाचन शक्ति बढ़ती है l और खाई गयी चीज पांच जाती है l पेट के पाचन सम्बन्धी रोगों में अजवाइन का प्रयोग लाभकारी है l


अजवाइन का पाचन चूर्ण कैसे बनाये

अजवाइन एवं छोटी हर्र सामान मात्रा में तथा हींग और सेंधा नमक स्वाद अनुसार कुछ कम, सबको पीस ले l भोजन के बाद गर्म पानी से एक चम्मच ले l


अजवाइन का शक्तिवर्धक चूर्ण

अजवाइन, इलायची, कालीमिर्च और सोंठ सामान मात्रा में पीस ले l आधा चम्मच सुबह शाम दो बार पानी से फंकी ले l


गैस (एसिडिटी) की समस्या

6 ग्राम अजवाइन में डेढ़ ग्राम काला नमक मिलाकर फंकी देकर गरम पानी पिलाने से गैस मिटती है l अजवाइन पेट की वायु को बहार निकालती है l भोजन में किसी भी रूपये में अजवाइन का सेवन करना चाहिए l अजवाइन और काला नमक समान मात्रा में पिसकर 4-4 ग्राम की गंकी छाछ से लेने से वायु गोला दूर हो जाता है l

पथरी रोग की समस्या का उपाय 

6 ग्राम अजवाइन नित्य फांकने से गुर्दा व मूत्रशय की पथरी निकल जाती है l


दाद,खाज, और खुजली की दवा 

दाद,खाज, और खुजली और फूंसिया होने पर गर्म पानी में अजवाइन पिसकर लेप करें l अजवाइन को पनि मेडालकर उबाल क्या धोये l बहुत फायदा होगा l फोड़े फुंसी की सूजन हो तो अजवाइन नीम्बू के इस में 

फोड़े फुंसी हो तो अजवाइन नींबू के रस में पिसकर लेप करे


दाँत दर्द का उपाय

हर प्रकार का दाँत दर्द अजवाइन के प्रयोग से ठीक हो जाता है आग पर अजवाइन डालकर दुखते हुए दाँत में धूनी दे l

उबालते हुए पानी में नमक और एक चम्मच पीसी हुई अजवाइन डालकर रख से l पानी ज़ब गुनगुआ हो तो इस पानी को मुँह में लेकर कुछ देर बाद कुल्ला करे इस तरह कुल्ला करे अजवाइन की दुआँ पर कुल्ले के बिच दो घंटे का अंतर रखे l इसी प्रकार दिन में तीन बार कुल्ला करने से दाँत दर्द बांध हो जाता है l गले में दर्द हो तो इसी तरह गरारे करने ले लाभ होता है l


खटमल भगाये अजवाइन से

चारपाई के चारो ओर अजवाइन की पोटली बाँधने से खटमल भाग जाते है l


अजवाइन से मच्छर भागने का तरीका

अजवाइन पीसकर सामान भाग सरसो का तेल में मिलाकर उसमे गत्ते के टुकड़ो को तर करके कमरे के चारो कोनो में लटका दे मच्छर कामरेमेंही आएंगे l


कील मुहाँसे उपाय 

30 गरक़म अजवाइन बारीक पिसकर 25 गतकम दही में मिलाकर फिर रात भर पिसकर मुहसो पर लगाए l सुबह गर्म पनि से मुँह धो ले l मुहसे मिट जायेंगे l


पित्त रोग(Urticaria) का इलाज 

अजवाइन एक ग्राम ओर गुड़ 3 ग्राम मिलाकर खाने से पित्त ठीक हो जाता है l


बाँझपन की समस्या का निवारण

मासिक धर्म के शुरुआत से आठ दिन तक रोजाना 25 ग्राम अजवाइन और 25 ग्राम मिश्री, 125 ग्राम पानी में रात को मिट्टी के बर्तन में भिगो दे l सुबह ठंडाई की रह पीये l पथ्य में मुंग की दाल और रोटी (बिना नमक की) खाये l इससे गर्भधारण होगा l

स्त्री रोग की समस्या

स्त्री रोग की समस्या का इलाज 

प्रसूतावस्था में गुड़ और अजवाइन देने से कमर का दर्द मिटता है l गर्भशय की शुद्धि होती है, रक्त साफ आता है, भूख लगती है तथा बल बढ़ता है l दर्द एवं रुक रुक कर आने वाला मासिक धर्म में भी लाभ होता है l रुके हुए रक्त को खुलकर आने के लिए 6 ग्राम अजवाइन का चूर्ण गर्म दूध से ले l


रक्तप्रदर की समस्या उपाय 

25 ग्राम अजवाइन रात को मिट्टी के बर्तन में 125 ग्राम पानी में भिगो दे प्रातः ठंडाई की तरह पीसकर पिलाये l इससे रक्त प्रदर ठीक हो जायेगा l 


कोई टिप्पणी नहीं:

Blogger द्वारा संचालित.