Search amazon Product

Ad banner

लाल मिर्च के फायदे और नुकसान - स्वास्थ्य पत्रिका

 लाल मिर्च क्या है,What is red chilli

लाल मिर्च खाने में स्वाद, तीखापन और गूदे की मात्रा, के अनुसार इनका उपयोग एक सब्जी (शिमला मिर्च) या एक मसाले (लाल मिर्च) के रूप में किया जाता है। मिर्च प्राप्त करने के लिए इसकी खेती की जाती है।भारतीय में मिर्च का उपयोग अचार, चटनी, और मसाले के रूप में बहुत अधिक किया जाता है l लाल मिर्च का वैज्ञानिक नाम (capsicum annuum) है l

लाल मिर्च खा के फायदे और नुकसान

मिर्च कितने प्रकार की होती है,What is the type of chili

समान्यता मिर्च तीन प्रकार की होती है, हरी मिर्च, लाल मिर्च (सुखी) हरी मिर्च जब सुख जाती है तो लाल हो जाती है l और केप्सिकम ऐनुअम (बड़ी मिर्च) 

लाल मिर्च के फायदे क्या है, What are the benefits of red pepper. 

लाल मिर्च कफ वात को दूर करने वाला, पित्त को बढ़ाने वाला, वात को हरने वाला, हृदय को उत्तेजित करने वाला, मूत्र को बढ़ाने वाला, वाजीकरण या काम की इच्छा जाग्रत करने वाला और बुखार में फायदेमंद होता है। इसके तीखे प्रकृति के कारण यह लार निकलने में मदद करता है और खाने को हजम करने में मदद करता है। 

लाल मिर्च की पहचान कैसे करें, How to identify red pepper.

पीसी हुई लाल मिर्च में लकड़ी का बुरादा व रंग मिला होता है एक चम्मच पीसी हुई लाल मिर्च एक कप पानी में घोले l इससे पानी रंगीन हो जायेगा और बुरादा पानी में तैरने लगेगा l

लाल मिर्च में कौनसा विटामिन होता है, What vitamin is in red pepper.

 मिर्च में विटामिन्स ए और सी बहुत होते है इसमें तेकोफेरोल अथवा विटामिन्स E भी होते है l लाल मिर्च विटामिन C का बहुत बड़ा स्त्रोत है l कातिवेदना, तांत्रिकर्ति, और रुमेटीक गड़बदियों में मिर्च के व्यंजन प्रति उत्तेजक के रूप में दिए जाते है l इन्हे खाने पर टॉनिक का प्रभाव होता है l लेकिन अंधाधुंध खाने पर जठर आंतशोध हो सकता है l 

भोजन के साथ खाने पर मिर्च हमारी स्वाद कलिकाओ का उद्दीप्त होता है करती है l जो भंड वाले अथवा धान्य खाद्द पदार्थ के पाचन में सहायक होता है l सलाद के साथ ताजे रूपये में लेने पर ये विटामिन्स सम्पूरक का काम करती है l क्यों की इसमें विटामिन्स A और C बहुत होते है l पकी,सुखी अथवा पीसी मिर्च की तुलना में हरी मिर्च अधिक पोस्टिक होती है l शिमला मिर्च में विटामिन्स विशेष रूपये से अधिक होता है l मिर्च से रातोंधी की रोक में सहायता करती है l

लाल मिर्च के उपयोग तथा घरेलु नुस्खे, Red Chilli Uses and Home Tips. 

आँख दुखना - आँखे दुखने पर लाल मिर्च पीसकर, थोड़ा सा पानी मिलाकर लुगदी बना ले l जिस तरफ की आँख दुख रही हो उस पैर के अंगूठे पर मिर्ची का लेप करे l यदि दोनों आँखे दुख रही हो तो दोनों पैर के अंगूठे पर लेप करें l

पागल कुत्ते द्वारा काटना - लाल मिर्च पिसकर खाने me काम आने वाले तेल में मिलाकर कुत्ते द्वारा कटे घाव पर लगा दे l ऐसा करने से कुत्ते के दाँत का विष नष्ट हो जायेगा l

पागल कुत्ता काटने पर - पागल कुत्ता काटने परकटे हुए अंग पर लाल मिर्च पीसकर लगाने से लाभ होता है l इससे विष नष्ट होकर घाव भर जाता है l पागल कुत्ते के काटने पर लाल मिर्च का लेप करने की विधि गावों में तो प्रचलित है ही अब इसकी वैज्ञानिक परिक्षण में भी उपयोगिता सिद्ध हो गयी है l यह लेप लगाने से बहुत पसीना आता है l जिसमे लार बह जाती है l

दाद, खाज, खुजली तथा त्वचा रोगों के लिए लाल मिर्च का तेल लगाना लाभदायक है वर्षाे होने वाली फुंसीयों पर लगाने से अधिक लाभ होता है l लाल मिर्च 125 ग्राम सरसो का तेल 375 ग्राम दोनों को गरम करे अच्छी तरह उबालने पर छान ले l यह लालमिर्च का तेल है l


दाद, खाज, खुजली तथा त्वचा रोगों के लिए

1) हेजे के रोगी को दस दस बूंद एक चम्मच पानी में हर लाभ होता है l आधे घंटे से देने से आराम होता है l

2)अधिक नींद आने पर पांच पांच बूंद शुभ शाम एक चम्मच पानी में मिलाकर पिलाये l

3) कफ वाली खांसी में पांच पांच बूंद गर्म पानी में तीन बार नित्य पीलाये l 

 4) बदहजमी, भूख की कमी होने पर पांच पांच बूंद पानी में मिलाकर भोजन से पहलवान पीलाये l

5) मिर्गी, हिस्ट्रीरिया, और पागलपन के दौरे बेहोसी में कुस्ज बुँदे नानक में डालने से होंस में आ जाता है l

6) बिच्छु काटने प्रवलाल मिर्च पीस कर लगाने से ठंडक पड़ जाती है l

7) पेट दर्द हो तो पीसी हुई लाल मिर्च गुड़ में मिलाकर खाने से लाभ होता है l

लाल मिर्च खाने से क्या नुकeसान होता है, What harm is caused by eating red chili.

कुछ लोगो को गर्म व मसालेदार खाद्य पदार्थ, जिनमे की काफ़ी अधिक मिर्ची हो l उत्तेजना और अम्लीय जठर रसो का श्रवण कर सकते है l जिनसे जठर वर्ण पनप सकते है जिसके कारण ऊपरी मध्य उधर में दर्द और बेचैनी होने लगती है l ऐसे में मसाले डर भोजन नहीं करना चाहिए l

इसके अलावा मिर्च बहुत तीखी होती है तो मुँह सम्बन्धी रोग, जलन चले, पाचन तंत्र ख़राब जैसी समस्याएं हो सकती है l इसलिए मिर्च ज्यादा न खाये l


कोई टिप्पणी नहीं:

Blogger द्वारा संचालित.