Advertisement

header ads

रक्तदान करने के फायदे और नुकसान - स्वास्थ्य पत्रिका

Blood donate karne ke fayde जानकर आप दंग रह जायेंगे l

Blood donate महादान होता है। रक्तदान को इंग्लिश में (ब्लड डोनट) कहते है l Blood donate करके आप किसी को नया जीवन दान तो देते ही हैं, साथ ही शरीर की कई बीमारियों को दूर भी भगाते हैं। हमारे देश में हर साल लाखों Blood units की जरूरत पड़ती है। इसलिए Blood donate जरूर करें। लोगो को जागरूक करें l बहुत सारे लोगों को लगता है कि Blood donate करने के बाद body weakness आ जाती है, लेकिन ऐसा नहीं है। Blood donate करने के 21 दिन बाद यह दोबारा बन जाता है बल्कि पहले से ज्यादा बनता है l

रक्तदान के फायदे और नुकसान बताइये
रक्तदान के फायदे और नुकसान बताइये 

शरीर blood बनाने की क्षमता बाद जाती है वजन बढ़ जाता है l ये ठीक वैसे ही जैसे किसी कुए से पानी निकलने के बाद झरन से कुआ में पानी भर जाता है ऐसा ही शरीर में होता है Blood donate करने के 21 दिन के अंदर ही नया नया blood बन जाता है l

International blood donate day कब मनाया जाता है

हर साल 14 june को international blood donate day मनाया जाता है l इसकी शुरुआत वर्ष 2004 में world health organization अंतरराष्ट्रीय रेडक्रॉस संघ व रेड क्रीसेंट समाज ने 14 june को वार्षिक तौर पर इसे पहली बार मनाकर इसकी शुरुआत की थी।

Influence story 

एक दिन सुबह समुद्र में भयंकर तूफान आया था । हजारों की संख्या में समद्री star fish तट पर आकर गिर गयी थी। समुद्र तट पर सुबह की सैर करने आये लोग, इन star fishes  को बिना पानी के तड़प-तड़प कर मरते हुए देख रहे थे। तभी उनमें से एक आदमी ने star fish  को उठा - उठा कर समुद्र में फेंकना शुरू कर दिया। वहाँ टहल रहे । कुछ लोगों ने उस व्यक्ति से कहा कि श्रीमान इनकी संख्या हज़ारों में है, आपके द्वारा कुछ star fish  को समुद्र में फेंकने से कोई फर्क नहीं पड़ेगा। उस आदमी ने जवाब दिया "लेकिन उन star fishes को फर्क पड़ेगा जिन्हें मैं वापस पानी में फेंक रहा हूँ"' क्या आप जानते हैं कि वह आदमी कौन था ? महान् दार्शनिक सुकरात।

उनकी यह बात सुनते ही वहाँ टहल रहे सभी लोगों ने starfish को उठाकर समुद्र में वापस फेंकना शुरू कर दिया।

सन्देश  

हमारे देश में लाखों की संख्या में ऐसे लोग हैं जिन्हें blood की आवश्यकता है। यह एक अनमोल दान है। आपके द्वारा donate किया हुआ blood जिसे भी मिलेगा, यकीन मानिए उन्हें जरूर फर्क पड़ेगा। उनके हाथ आपके लिए दुआ के लिए जरूर उठेंगे। जब आप blood donate के लिए स्वयं आगे आएंगे, तो यकीन मानिए कि आपको देखकर बहुत से और भी लोग आगे आंएगे।


Blood donate करने के नियम क्या है? 

* blood donor किसी भी तरह की बीमारी से पीड़ित नहीं होना चाहिए जैसे blood presser, diabetes, पीलिया, इत्यादि l

* blood donor किसी भी रोग से संक्रामित नहीं होना चाहिए l

* blood donor का hemoglobin 12.5 से कम नहीं होना चाहिए l

* blood donor किसी प्रकार का नशीला पदार्थ का सेवन ना करे जैसे शराब, भाँग, गांजा, अन्य नशीले पदार्थ l

* blood donor, blood donate करने से पहले कुछ food या breakfast कर लेना चाहिए l

* किसी तरह का workout करते है तो blood donate करने के बाद करे blood donate करने से पहले ना करे l

Blood donate करने से body में क्या side effects होते है? 

Blood donate करने के नुकसान भी है इस world में हर किसी का apposite भी होता है हर सिक्के के दो पहलु होते है l एक अच्छा तो दूसरा बुरा, जहाँ फायदे होते है वहाँ नुकसान भी होता है l इसी तरह blood donate करने के नुक्सान भी है l

हमें blood donate ज्यादा नहीं करना चाहिए क्योंकि blood donate करने से शरीर में blood बढ़ता है शरीर की कोशिकाएं फूल जाती है जिससे शरीर मोटा हो जाता है और आप मोटापे शिकार हो जाते है l मोटापे को काम करने के लिए किसी भी तरह के treatment ले लो वो कम नहीं होता l बढ़ता ही रहता है l

मैं आपको रियल example बताना चाहता हुँ l मैं एक ऐसे व्यक्ति को जनता हुँ जिसने 52 units blood donate कर चुके है डॉ. ने रक्तदान करने से मना कर दिया है l लेकिन आज उनका weight 130 kg है l थर्ड फ्लोर पर रहते है, electrician है, घूमना,  योगा, व्यायाम करते है l डॉ. का treatment लिया फिर भी मोटापा कम नहीं हो रहा है l आप सोच सकते है third flour की सीढ़ियों को चढ़ना उतरना, और कार्य स्थल की सीढियां उतरना चढ़ना l इलाज योगा इत्यादि करने पर भी वजन, मोटापाकम नहीं हो रहा l

अपील - दोस्तों आशा करता हूँ आपको ये पोस्ट पसंद आएगी l इसके अलावा आपने कभी ब्लड डोनेशन दिया है तो अपना अनुभव कमेंट में साझा कर सकते है l धन्यवाद, 

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां